USD: मंडराता हुआ खतरा?

USD: मंडराता हुआ खतरा?

सतह के नीचे

जब भी आर्थिक माहौल में थोड़ी हवा चलती है, निवेशक सुरक्षा के लिए दौड़ते हैं और हाथ में कई सारे USD के साथ लौटते हैं। दुनिया US डॉलर को एक सार्वभौमिक सुरक्षित आश्रय के रूप में देखती है और इस अर्थ में अमेरिकन मुद्रा की विश्वसनीयता पर संदेह भी नहीं करती है। लेकिन क्या हो अगर यह जल्द ही खत्म हो जाए तो? ऐसी राय है कि निकटतम भविष्य में ये बहुत संभव परिदृश्यों में से एक है।

पर्दे के पीछे

मौलिक परिवर्तन अचानक से ही नहीं आ जाते हैं, वो “अचानक” से हुई मौलिक प्रक्रियाओं के परिणामस्वरूप प्रकट होते हैं। इसलिए, किसी भी मौलिक परिवर्तन की संभावना का अनुमान लगाने के लिए, एक व्यक्ति को उन कारकों की ताकत का अनुमान लगाना होगा जो संभवतः उस परिवर्तन की तरफ ले जाता है। अब, वो क्या है जो USD को वैश्विक आरक्षित मुद्रा बनाता है? वही जो किसी भी मुद्रा को क्रम में रखता है – मांग। यदि लोगों को लेनदेन, भंडार, भुगतान, ऋण आदि के लिए मुद्रा की आवश्यकता है, तो यह उच्च मूल्य का लाभ उठाएगा। नहीं तो, कम मांग और मुश्किल से इस्तेमाल की गई मुद्रा न केवल मूल्य में गिर सकती है, बल्कि गैर-अस्तित्व में भी आ सकती है।

इसलिए, यह वैश्विक मांग ही है जो USD को प्रबल रखती है। और अमेरिकन मुद्रा की वैश्विक मांग क्यों है? सबसे पहले, किसी भी प्रकार के अमेरिकी उत्पादों की एक निर्विवाद वैश्विक उपस्थिति है, जिसके लिए, तार्किक रूप से, उनके अमेरिकी निर्माता ज़्यादातर अमेरिकी मुद्रा में भुगतान की मांग करते हैं। दूसरा, इस मुद्रा को अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं को उपलब्ध कराने के लिए, अमेरिकी और अंतर्राष्ट्रीय बैंक USD में ऋण और सभी प्रकार की ऋण सुविधाएं प्रदान करने के लिए पर्याप्त उदार हैं ताकि अपने उपयोग के लिए दुनिया के पास पर्याप्त USD हो। तीसरा, अमेरिकी अर्थव्यवस्था वास्तव में वैश्विक अर्थव्यवस्था की पहली मिसाल होने के साथ-साथ सबसे बड़ी और ताकतवर भी है। इसलिए मूल रूप से, अमेरिकी आर्थिक मशीन को गिरने के लिए बहुत बड़ा माना जाता है, और इसलिए ये पूरी दुनिया में लोगों और संस्थानों द्वारा दीर्घकालिक रूप से विश्वसनीय है। इन सबको मिलाकर, ये तीन मुख्य कारक स्पष्ट करते हैं कि कोई अन्य मुद्रा संभवतः USD के लिए तुलनीय नहीं है। या है?

सागर पार से दबाव

वास्तव में अमेरिकी अर्थव्यवस्था और USD के वैश्विक वर्चस्व को चुनौती देना चीन के लिए लगभग 20-30 साल पहले असंभव था। अब, दूसरी ओर, न केवल चीनी उत्पाद दुनिया के सभी हिस्सों में अमेरिकी उत्पादन पर दबाव डाल रहे हैं, बल्कि अमेरिका खुद अब चीन पर निर्भर है। अमेरिकन कंपनियां अक्सर चीन में अपने उत्पादन और आपूर्ति श्रृंखला हब का पता लगाती हैं और अपनी श्रम शक्ति का उपयोग करती हैं। फलस्वरूप, USD पर CNH द्वारा दबाव बना रहता है।

इसके अलावा, डोनाल्ड ट्रम्प की अध्यक्षता के साथ, अमेरिकी वैश्विक आर्थिक रणनीति आक्रामक होने के बजाय और अधिक रक्षात्मक हो गई। दूसरे शब्दों में, अमेरिका धीरे-धीरे अंतर्राष्ट्रीय क्षेत्र से हट रहा है – और न केवल आर्थिक रूप से, बल्कि राजनीतिक और सैन्य रूप से भी, हालांकि कभी-कभी ये अलग भी लगता है।

इस प्रकार, जहां चीन खुले तौर पर विस्तार कर रहा है, वहीं अमेरिका धीरे-धीरे पीछे हट रहा है। इसके अलावा एंटी-वायरस वित्तीय उपायों, विलोपित बचत, मंदी के परिणामस्वरूप राजकोषीय घाटे में बेहद वृद्धि हुई है – और यहाँ एक बार फिर से USD के वर्चस्व को उचित संदेह के साथ देखा जाता है।

गिरावट की शुरुआत

USD/CNH का तकनीकी परिप्रेक्ष्य नीचे की तरफ उल्टा होते हुए नहीं दिख रहा। हालांकि, ना तो ये ऊपर बढ़ने के निश्चित संकेत दे रहा है और ना ही बगल में। बहुत लंबी अवधि का परिप्रेक्ष्य ये बताता है कि पिछले दशक के दौरान USD 6 CNH से 7 की लागत से ऊपर की ओर, तेज़ (सामरिक दृष्टिकोण से) उतार-चढ़ाव के साथ किस तरह से स्थानांतरित हुआ है। मासिक चार्ट की सबसे अंतिम कड़ी पिछली वाली की तुलना में नवीनतम उच्चतर के साथ एक गोल वक्र को दिखाती है – इसी से गिरावट की संभावित निरंतरता का अंदाज़ा लगाया जा सकता है।

दैनिक चार्ट मंदी की गति के समान संभावना दर्शाता है – शायद 7.00 के समर्थन को अंततः आगे आने वाले निचली क्षमता के लिए परीक्षण किया जाएगा। डोनाल्ड ट्रम्प के अनुसार, US निर्यातकों के लिए कमज़ोर USD फायदेमंद है – यह USD/CNH को 7.00 और उसके नीचे तक पहुंचने की संभावना को बढ़ाता है। हालाँकि, इससे भी नीचे जाने पर अमेरिकी अर्थव्यवस्था को समर्थन की तुलना में कहीं अधिक नुकसान हो सकता है। क्योंकि ये कदम पहले चर्चा किए गए मौलिक बदलावों के परिणामस्वरूप हो सकते हैं, इसलिए आने वाले महीनों में ये कारक और अधिक दिखाई देंगे। इसलिए, समाचार पर नज़र रखें और USD/CNH की संभावित गिरावट के लिए तैयार रहें।  

1.png

                                                                                                      लॉग इन

समान

तेल: आगे का लंबा सुधार

सिटीग्रुप के विश्लेषकों के अनुसार, कच्चे तेल की कीमतें फिर कभी $100 प्रति बैरल तक नहीं पहुंचेंगी। उन्होंने दावा किया कि इस तरह के उच्च स्तर तक पहुंचने का विचार “वास्तविकता से कहीं अधिक कल्पना है”। ये वास्तव में एक गंभीर बयान है। कारण क्या हैं?

ताज़ा खबर

अपने स्थानीय भुगतान प्रणालियों के साथ जमा करें

और सीखें

डेटा संग्रह नोटिस

FBS इस वेबसाइट को चलाने के लिए आपके डेटा का रिकॉर्ड रखता है। "स्वीकार करें" बटन दबाकर, आप हमारीगोपनीयता नीति से सहमत होते हैं।

कॉलबैक

शीघ्र ही एक प्रबंधक आपको कॉल करेगा।

नंबर बदलें

आपका अनुरोध स्वीकार किया गया है|

शीघ्र ही एक प्रबंधक आपको कॉल करेगा।

इस फ़ोन नम्बर के लिए कॉलबैक का अगला अनुरोध
उपलब्ध होगा 00:30:00 में

यदि आपके पास कोई ज़रूरी मुद्दा है तो कृपया हमसे संपर्क करें
लाइव चैट के माध्यम से

आंतरिक त्रुटि। कृपया बाद में पुन: प्रयास करें

अपना समय बर्बाद ना करें - इस बात का ध्यान रखें कि NFP अमेरिकी डॉलर और लाभ को कैसे प्रभावित करता है!

शुरुआत फॉरेक्स पुस्तक

शुरुआती फॉरेक्स पुस्तक व्यापार की दुनिया में आपका मार्गदर्शन करेगी।

शुरुआत फॉरेक्स पुस्तक

ट्रेडिंग शुरू करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीजें
अपना ई-मेल दर्ज करें, और हम आपको एक निशुल्क शुरुआती फॉरेक्स पुस्तक भेजेंगे

धन्यवाद!

हमने आपके ई-मेल पर एक विशेष लिंक ईमेल किया है।
अपने पते की पुष्टि के लिए लिंक पर क्लिक करें और शुरुआत के लिए शुरुआती फॉरेक्स बुक प्राप्त करें।

आप अपने ब्राउज़र के पुराने संस्करण का उपयोग कर रहे हैं।

इसे नवीनतम संस्करण में अपडेट करें या सुरक्षित, अधिक आरामदायक और उत्पादक व्यापारिक अनुभव के लिए कोई और संस्करण प्रयास करें।

Safari Chrome Firefox Opera