ट्रेंड पुलबैक पर कैसे ट्रेड करें?

ट्रेंड पुलबैक पर कैसे ट्रेड करें?

2022-11-23 • अपडेट किया गया

पुलबैक क्या होता है?

भाव कभी भी सीधी रेखा में नहीं चलता है। अक्सर, मूल्य चाल को भाव की लहरों का नाम दिया जाता है। मजबूत ट्रेंड के दौरान, है अगला उच्च पिछले उच्च से ऊंचा होना चाहिए और हर अगला निम्न स्तर पिछले स्तर से निम्न होना चाहिए।

Screen-Shot-2019-11-11-at-11.23.48-AM-1024x656.png

ऊपर दी गई तस्वीर में इस तेजी के ट्रेंड का एक सटीक उदाहरण दिया गया है। जैसा कि आप देख सकते हैं, करेक्शन की तीन लहरें ट्रेडरों को मजबूत तेजी के रुख वाले बाजार में घुसने की क्षमता देती है।

इस लेख में हम बात करेंगे, कि करेक्शन के समय बाजार में घुसने के लिए सबसे सटीक बिंदु कैसे चुना जा सकता है।  

जॉन हील्स की ट्रेंड लाइन थियोरी

ट्रेंड लाइन आज तक की सबसे अच्छी ट्रेडिंग उपकरण हैं। संकेतकों से दूर रहने वाला हर ट्रेडर इन्हें बनाता है।

सामान्य रूप से कहा जाए तो, एक कमजोर पुलबैक ट्रेंड की मजबूती की ओर इशारा करता है। इसका उलट भी हो सकता है, एक बड़ा पुलबैक आने वाले समय में ट्रेंड के पलटने का संकेत दे सकता है।

जॉन हिल, एक मशहूर ट्रेडिंग लेखक ने, ट्रेंड थियाेरी बनाई थी। यह थियरी आसान है, ट्रेडर्स को ट्रेंड की शक्ति का संकेत देने के लिए केवल दो ट्रेंड लाइन बनाने की आवश्यकता होती है।

पहले, आपको संकेत की लाइन बनाना सीखना होगा।

  • 0 को चरम बिंदु पर रखें
  • नीचे दिए गए चित्र के अनुसार 1, 2, 3, 4 लगाएं

0 और 4, 0 और 2 कनेक्ट करें।

pullback 6.png

यदि बुलिश ट्रेंड के दौरान 0-4 लाइन तेज होती है, तो पुलबैक में शक्ति होती है। इस पुलबैक में ट्रेड करने की कोशिश न करें।

pullback 5.png

यदि बुलिश ट्रेंड के दौरान 0-2 लाइन तेज होती है, तो पुलबैक में शक्ति नहीं होती है। जैसा तस्वीर में दिखाया गया है आप वैसे एक लॉन्ग ट्रेड खोल सकते हैं (जब भाव 0-4 रेखा को पार कर रहा होता है)।

आप इस उदाहरण का उपयोग डाउनट्रेंड के दौरान भी कर सकते हैं।

 

ब्रेकआउट पुलबैक

ब्रेकआउट पुलबैक सबसे लोकप्रिय पुलबैक रणनीतियों में से एक है। यह रणनीति बाजार के घुमाव वाले बिन्दुओं में सबसे कारगार रहती है। मजबूत ट्रेंड के दौरान, एक कीमत चैनल में समेकित हो सकती है और समर्थन और प्रतिरोध स्तर बना सकती है

तस्वीर में, आप देख सकते हैं कि भाव ने पहले समर्थन स्तर को पार किया (ऊपरी नीली रेखा) और उसे नीचे से फिर से आजमाया (ब्रेकआउट के बाद, अक्सर दाम उस स्तर पर वापस आ जाता है जिस बिन्दु पर वो पार करता है)। पुनर्परीक्षण के समय में, एक आक्रामक ट्रेडर शॉर्ट ट्रेड खोल सकता है। ऐसे मामलो में, संभावित जोखिम/लाभ का अनुपात सबसे ऊंचा होता है क्यूंकी भाव पुनः उस स्तर पर लौट कर अपट्रेंड को जारी रख सकता है।

रूढ़िवादी ट्रेडर को तब तक इंतजार करना चाहिए जब तक कीमत प्रवृत्ति संरचना के अनुसार जारी नहीं रहती है और एक नया निम्न स्तर नहीं बना लेती है (निचली नीली रेखा का ब्रेकथ्रु)। बेची करने का यह दूसरा प्रवेश बिन्दु है। रूढ़िवादी प्रविष्टि बाद में होगी और इसलिए, संभावित इनाम/जोखिम अनुपात भी छोटा होता है।

222.png

क्षैतिज चरण

ट्रेंड मूवमेंट के दौरान, कीमत हमेशा अगली चाल के लिए शक्तियों को जमा करने के लिए पुलबैक करती है। आमतौर पर, कीमत पिछले उच्च/निम्न स्तर पर लौटती है और क्रमशः तेजी/मंदी की प्रवृत्ति के दौरान ऊपर/नीचे से इसका परीक्षण करती है। इस पुलबैक को उन लोगों के लिए वैकल्पिक प्रवेश बिंदु खोजने का अवसर माना जा सकता है जो प्रारंभिक प्रवेश अवसर चूक गए थे।  

pullback 2.png

इसके अलावा, एक ट्रेडर स्टॉप लॉस को ट्रेंड के पीछे सुरक्षित तरीके से खींचने के लिए स्टेपिंग पैटर्न का उपयोग करना भी चुन सकता है। इस मामले में, ट्रेडर तब तक इंतजार करता है जब तक कीमत एक प्रवृत्ति की दिशा में एक कदम पूरा नहीं कर लेती और फिर अंतिम पुलबैक क्षेत्र के पीछे स्टॉप लॉस लगा देता है। फिर ये पीछा करने वाला स्टॉप लॉस सुरक्षित कर दिया जाता है और इसकी चपेट में आने की संभावनाएं कम हो जाती हैं।

ट्रेंडलाइन पुलबैक

यह पुलबैक ट्रेड करने का एक और लोकप्रिय तरीका है। इसका नुकसान यह है कि ट्रेंडलाइन की पुष्टि होने में अक्सर अधिक समय लगता है। आअप हमेशा दो बिन्दुओ को जोड़ सकते हैं, पर ट्रेंड लाइन बनने में कम से कम भाव तीन बार उसे छूना चाहिए। इसीलिए आप ट्रेंड लाइन पुलबैक को चौथी या पाँचवी बार छूने के समय ही ट्रेड कर सकते हैं।

यह एक अच्छा अतिरिक्त तरीका हो सकता है, पर एकल तरीके के रूप में, इसमें ट्रेडर द्वारा बहुत से मौके छूट सकते हैं।

pullback 4.png

निष्कर्ष

इस लेख में हमने एक ट्रेंड के चलने के दौरान पुलबैक ट्रेड करने की चार रणनीतियों के बारे में चर्चा करी।

  • संकेत रेखा रणनीति
  • ब्रेकआउट पुलबैक
  • क्षैतिज चरण
  • ट्रेंडलाइन पुलबैक

पहली तीन रणनीतियों को अलग-अलग इस्तेमाल किया जा सकता है, जबकि ट्रेंडलाइन एक अतिरिक्त विकल्प है जो प्रस्तुत रणनीतियों में से किसी को भी बेहतर बना सकता है।  

इस रणनीति के साथ ट्रेडिंग करना शुरू करें

समान

एक फोरेक्स मैकेनिकल ट्रेडिंग सिस्टम कैसे बनाएं
एक फोरेक्स मैकेनिकल ट्रेडिंग सिस्टम कैसे बनाएं

प्रत्येक ट्रेडर अलग होता है। फिर भी, उन्हें श्रेणियों में एक करना संभव है। विशेष रूप से, सिस्टम ट्रेडर्स और विवेकाधीन ट्रेडर्स के बीच अंतर करना संभव है।

कीमती धातुओं में सफल निवेश
कीमती धातुओं में सफल निवेश

युद्ध शुरू होते हैं और समाप्त होते हैं, सदियां बदलती हैं और धातुएं निवेश करने के लिए सबसे सुरक्षित सुरक्षित संपत्ति हैं। वे निवेशकों के बीच इतने पहचानने योग्य क्यों हैं?

अपने स्थानीय भुगतान प्रणालियों के साथ जमा करें

टीम भावना अनुभव करें

डेटा संग्रह नोटिस

FBS इस वेबसाइट को चलाने के लिए आपके डेटा का रिकॉर्ड रखता है। "स्वीकार करें" बटन दबाकर, आप हमारीगोपनीयता नीति से सहमत होते हैं।

कॉलबैक

शीघ्र ही एक प्रबंधक आपको कॉल करेगा।

नंबर बदलें

आपका अनुरोध स्वीकार किया गया है|

शीघ्र ही एक प्रबंधक आपको कॉल करेगा।

इस फ़ोन नम्बर के लिए कॉलबैक का अगला अनुरोध
उपलब्ध होगा में

यदि आपके पास कोई ज़रूरी मुद्दा है तो कृपया हमसे संपर्क करें
लाइव चैट के माध्यम से

आंतरिक त्रुटि। कृपया बाद में पुन: प्रयास करें

अपना समय बर्बाद ना करें - इस बात का ध्यान रखें कि NFP अमेरिकी डॉलर और लाभ को कैसे प्रभावित करता है!

शुरुआत फॉरेक्स पुस्तक

शुरुआती फॉरेक्स पुस्तक व्यापार की दुनिया में आपका मार्गदर्शन करेगी।

शुरुआत फॉरेक्स पुस्तक

ट्रेडिंग शुरू करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीजें
अपना ई-मेल दर्ज करें, और हम आपको एक निशुल्क शुरुआती फॉरेक्स पुस्तक भेजेंगे

धन्यवाद!

हमने आपके ई-मेल पर एक विशेष लिंक ईमेल किया है।
अपने पते की पुष्टि के लिए लिंक पर क्लिक करें और शुरुआत के लिए शुरुआती फॉरेक्स बुक प्राप्त करें।

आप अपने ब्राउज़र के पुराने संस्करण का उपयोग कर रहे हैं।

इसे नवीनतम संस्करण में अपडेट करें या सुरक्षित, अधिक आरामदायक और उत्पादक व्यापारिक अनुभव के लिए कोई और संस्करण प्रयास करें।

Safari Chrome Firefox Opera